क्या है चिपको आंदोलन के पीछे की कहानी.

1974 में वन विभाग ने जोशीमठ के रैणी गाँव के क़रीब 680 हेक्टेयर जंगल ऋषिकेश के एक ठेकेदार को नीलाम कर दिया। इसके अंतर्गत जनवरी 1974 में रैंणी गांव के 2459 पेड़ों को चिन्हीत किया गया । 23 मार्च को रैंणी गांव में पेड़ों का कटान किये जाने के विरोध में गोपेश्वर में एक रैली…

Read More

पहाड़ी जाड़े की सौगात: सना हुआ नींबू

सामग्री: बड़े पहाड़ी नींबू – २ पहाड़ी माल्टे – २ पहाड़ी मूली – १ दही – १/२ किलो हरे धनिये और हरी मिर्च से बना मसालेदार नमक भांग के भुने बीजों का चूरन कतला हुआ गुड़ – ५० ग्राम पहाड़ी नींबू करीब करीब बड़े दशहरी आम जितने बड़े होते हैं। माल्टे, मुसम्मी और संतरे के…

Read More

गढ़वाल राइफल्स का “जनरल बकरा”

गढ़वाल राइफल्स का “जनरल बकरा” बात हिन्दुस्तान आजाद होने से पहले की है। लैन्सडाउन में उस समय गढ़वाल राइफल का ट्रेनिंग सेन्टर हुआ करता था। उस समय फ्रांस, जर्मन, बर्मा, अफगानिस्तान आदि देशों से अंग्रेजी शासन का युद्ध होता रहता था अत: गढ़वाल राइफल की पल्टन को भी हुकूमत के शासन के अनुसार उन स्थानों…

Read More

मोदी के इजराइल दौरे पर धर्मेद्र पंवार ने किया गौरवान्वित

पीएम मोदी के इजराइल दौरे पर देश ही नहीं बल्कि दुनिया की नजर भी है। नरेन्द्र मोदी भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने इजराइल का दौरा किया। पीएम मोदी का इजराइल दौरा मीडिया में सुर्खियों बना हुआ है, उनके एक – एक बयान पर दुनिया भर के मीडिया और देशों की नजर हैं। लेकिन इन…

Read More